Rent_Recipt_Banner.jpg Rent_Recipt_Mobile.jpg

क्या रेंट की रसीदें और एग्रीमेंट इनकम टैक्स रिटर्न भरते समय जरूरी हैं?

  3/5/24 6:00 AM

Product Enquiry

Blog Title

648   | 

  3/5/24 6:00 AM   |

Asset Publisher

Table Of Contents

यह एक बहुत ही सामान्य सा प्रश्न है जो कभी न कभी आपके मन में जरूर आया होगा। याद रखें की यदि आप किसी भी कारण से कंही किराये के घर में रह रहे हैं तो ऐसे में आपके द्वारा दिए जाने वाले किराए की रसीदें तथा मकान का अग्रीमेंट दोनों ही अत्यंत महत्वपूर्ण दस्तावेज़ होते हैं। यह व्यवहार संबंधी लेख न केवल एक कानूनी साक्ष्य है बल्कि आयकर भरते समय भी आपके लिए काफी मददगार साबित हो सकता है। अगर आप किसी मकान पर किराए पर रहते हैं, तो आप हाउस रेंट अलाउंस (HRA) का लाभ उठा सकते हैं। HRA एक प्रकार की टैक्स छूट है जो आपको अपने किराए पर भुगतान किए गए धन पर एक निश्चित राशि का दावा करने की सुविधा देती है।

HRA का दावा करने के लिए, आपको आयकर विभाग (ITD) को रेंट की रसीदें और एग्रीमेंट जमा करने की आवश्यकता होती है। ये दस्तावेज यह साबित करने में आपकी मदद करते हैं कि आप वास्तव में एक किरायेदार हैं और आपने किराए का भुगतान किया है।

रेंट की रसीदें

रेंट की रसीदें वे दस्तावेज हैं जो मकान मालिक द्वारा किरायेदार को हर महीने किराए का भुगतान करने के बाद साक्ष्य के रूप में दी जाती हैं। मकान मालिक द्वारा जारी की गयी ये रसीद एक ऐसा दस्तावेज है जो किरायेदार द्वारा मकान मालिक को दिए गए किराए के भुगतान की पुष्टि करता है। इन रसीदों में निम्नलिखित जानकारी होनी चाहिए:

  • मकान मालिक का नाम और पता
  • किराएदार का नाम और पता
  • किराए की राशि
  • भुगतान की तिथि

रेंट की रसीदें एक महत्वपूर्ण दस्तावेज़ हैं क्योंकि वे आपको HRA का दावा करने के लिए आवश्यक साक्ष्य प्रदान करती हैं। रेंट की रसीदें प्राप्त करने के लिए, आपको अपने मकान मालिक को हर महीने किराए का भुगतान करने के बाद एक रसीद जारी करने के लिए कहना चाहिए।

यहां ये जानना भी महत्वपूर्ण है की इन रसीदों का एक विशेष क़ानूनी महत्व भी होता है। ये एक ऐसे कानूनी दस्तावेज़ होते हैं जो मकान के स्वामीत्व की स्थिति को स्पष्ट करते हैं एवं इससे होने वाले सभी वित्तीय लेन-देन को भी स्पष्टता से दर्शाते हैं। भविष्य में होने वाले किसी भी कानूनी मुद्दे में ये एक महत्वपूर्ण साक्ष्य की भूमिका निभाते हैं।

साथ ही किराये की रसीदें मकान मालिक और किरायदार दोनों की ही वित्तीय संरचना को स्पष्ट करते हुए संपत्ति की स्थिति को समझने में मदद करती हैं जिससे वित्तीय योजनाओं को बनाए रखने में भी मदद मिलती है।

मकान अग्रीमेंट

मकान अग्रीमेंट एक कानूनी दस्तावेज़ है जो मकान मालिक और किरायदार के बीच हुए वित्तीय करार को स्पष्ट करता है। यह एक प्रकार का समझौता है जिसमे दोनों पक्षों यानी मकान मालिक और किरायेदार के अधिकारों और जिम्मेदारियों को स्पष्ट रूप से उल्लेखित किया जाता है।

मकान अग्रीमेंट एक महत्वपूर्ण दस्तावेज़ है क्योंकि यह दोनों पक्षों के लिए एक रिकॉर्ड प्रदान करता है और यह स्पष्ट करता है कि मकान पर उनके अधिकार क्या हैं और उससे सम्बंधित उनकी क्या जिम्मेदारियां हैं जो उन्हें निभानी हैं। मकान अग्रीमेंट में शामिल कुछ महत्वपूर्ण बिंदु निम्नलिखित हैं:

  • मकान मालिक और किरायदार का नाम और पता
  • किराए पर दिए जाने वाले मकान का पता
  • किराए की राशि और अवधि\
  • किराए का भुगतान करने की तारीख
  • किराए में शामिल अन्य सुविधाएं यदि है तो

एग्रीमेंट एक महत्वपूर्ण दस्तावेज़ है क्योंकि यह आपको HRA का दावा करने के लिए आवश्यक साक्ष्य प्रदान करता है। उदाहरण के लिए:

मान लीजिए कि आप किसी शहर में काम करते हैं और वहां किराए पर रहते हैं। आप अपने नियोक्ता से हर महीने HRA के रूप में 15,000 रुपये प्राप्त करते हैं।

जब आप अपना आयकर रिटर्न भरते हैं, तो आपको अपने नियोक्ता से प्राप्त HRA की राशि को अपने कुल आय में जोड़ना होगा। हालांकि, आप उस राशि पर टैक्स नहीं भरेंगे जो आपने अपने किराए पर भुगतान किया है।

इस मामले में, आपके पास HRA का दावा करने के लिए निम्नलिखित दस्तावेज होने चाहिए:

  • प्रत्येक महीने के लिए रेंट रसीदें
  • आपके और मकान मालिक के बीच का एग्रीमेंट

इन दस्तावेज़ों को आयकर रिटर्न के साथ जमा करके, आप HRA की राशि पर टैक्स बचा सकते हैं। यह जानकारी आईटीआर अधिकारी को यह सुनिश्चित करने में मदद करती है कि आप वास्तव में उस मकान में रह रहे हैं जिसके लिए HRA का दावा किया जा रहा है।

ध्यान रखने योग्य बातें

  • HRA का दावा करने के लिए, आपको अपने नियोक्ता को अपने किरायदार होने का प्रमाण प्रदान करना होगा। यह प्रमाण रेंट की रसीदें और एग्रीमेंट के रूप में हो सकता है।
  • यदि आप 1 लाख रुपये से अधिक किराया देते हैं, तो आपको अपने मकान मालिक का पैन नंबर भी अपने नियोक्ता को प्रदान करना होगा।
  • HRA की छूट की गणना करते समय, आपको अपने किराए में शामिल सुविधाओं का मूल्य घटाना होगा।

अतः याद रखें की रेंट की रसीदें और एग्रीमेंट इनकम टैक्स रिटर्न भरते समय HRA का दावा करने के लिए एक आवश्यक दस्तावेज़ हैं। इन दस्तावेज़ों को आयकर विभाग को जमा करके, आप HRA की राशि पर टैक्स बचा सकते हैं।

 

Chirag Iyer - BFSI Enthusiast

Chirag is a writer and an avid reader who loves to drink coffee! His other interests include boxing, karate, and singing.

Related Blogs

Related Assets

tax-340x241
# tax-filing

6 Important Income Tax Rules

29 Jun 2023

2294
young-women-340x241
# financial-planing

Financial Tips For Every Young Woman

03 Jul 2023

942
critical-illness-mobile
# tax-planning

4 Myths About Critical Illness Cover…Busted

21 Jun 2023

1220
609%20by%20334%20financial-planningdo-you-have-savings-of-rs-4000-per-month
# financial-planing

Do you have savings of Rs. 4000 per month?

03 Jul 2023

1160

Asset Publisher